हरप्पा के लोग मांश खाते थें, हरियाण मे मिली भुने हुए मांश की हड्डियां

भारत मे मांस खाने का प्रचलन पुराना है, इसे सिद्ध करने के लिए हमरे धार्मिक पुस्तकों मे पूर्ण साक्ष्य मौजूद हैं| उन सब मे जो पुस्तक सबसे ऊपर आती है, वह है ऐतरेय ब्राह्मण, जिसके द्वितीय पंचिका के अध्याय प्रथम और द्वितीय मे पशुवों के बलि देने का संपूर्ण विवरण